Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Employees Surprized to Get 4 Years Salary as Bonus: यूं तो सभी कंपनियां अपने कर्मचारियों को खुश रखने के लिए कुछ न कुछ पॉलिसीज़ बनाती रहती हैं. हालांकि कुछ कंपनियां और बॉसेज़ ऐसा कर जाते हैं कि वे ग्लोबल हेडलाइंस बटोर लेते हैं. उदाहरण के तौर पर एक कंपनी ने अपने कर्मचारियों को बोनस के तौर पर 4-6 महीने नहीं बल्कि कुल 50 महीने की सैलरी एक साथ दे दी है.

कंपनी अपने कुछ चुनिंदा कर्मचारियों को खुश करना चाहती थी क्योंकि उनकी ही बदौलत कंपनी का बिजनेस कोरोना काल के दौरान भी बेहद शानदार रहा है. कंपनी ने सैलरी के साथ उन्हें भारी-भरकम बोनस दिया. इसे स्टेलर बोनस का नाम दिया गया है क्योंकि साल 2022 कंपनी के लिए बिजनेस और प्रॉफिट के मामले में बेहतरीन रहा है. ऐसा करने वाली कंपनी ताइवान की एवरग्रीन मरीन कॉरपोशन है.

बोनस में मिली 4 साल की सैलरी
खबर है कि ताइवान की शिपिंग कंपनी Evergreen Marine Corp ने अपने कुछ चुनिंदा कर्मचारियों को करीब 4 साल की सैलरी बोनस के तौर पर मिला है. ये जानकारी कंपनी से जुड़े एक शख्स ने नाम न बताने की शर्त पर दी. बोनस के हकदार सिर्फ वही कर्मचारी बने हैं, जो ताइवान में काम कर रहे हैं. उन्हें जॉब ग्रेड और काम के आधार पर बोनस मिला है. ताइपे बेस्ड कंपनी ने इस मामले पर ज्यादा जानकारी न देते हुए कहा है कि ये साल के अंत मिलने वाला बोनस है, जो व्यक्तिगत प्रदर्शन और कंपनी के मुनाफे के मुताबिक दिया जाता है.

क्यों मेहरबान रही कंपनी
दरअसल कोरोना काल में शिपिंग इंडस्ट्री को काफी फायदा हुआ है. यही वजह है कि मालभाड़े की कीमतें बढ़ी हैं और डिमांड भी बढ़ी है. कंपनी का फायदा भी 2020 की तुलना में 1 लाख 70 हज़ार करोड़ हो चुका है. ऐसे कर्मचारियों को लाखों रुपये बोनस के तौर पर दिए गए. ताइपे के एक अखबार ने इसके बारे में छापते हुए बताया कि हर किसी को इतना बोनस नहीं मिला है. इस बात को लेकर शंघाई में काम कर रहे कंपनी के कर्मचारियों ने भेदभाव कहा है, जिन्हें वेतन का 5-8 फीसदी ही बोनस के तौर पर दिया गया.

Tags: Ajab Gajab, Viral news, Weird news



Source link