एक ही बेटी दो बार जन्म देगी महिला! विचित्र बीमारी के कारण डॉक्टरों ने की अनोखी सर्जरी


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

किसी भी महिला के लिए बच्चे को जन्म देने से पहले जो 9 महीनों की लंबी यात्रा होती है वो काफी मुश्किलों भरी होती है. शरीर में आने वाले बदलावों से लेकर स्वभाव में परिवर्तन तक उन्हें काफी कुछ सहना पड़ता है. पर जब 9 महीने बाद औरत अपनी संतान को जन्म देती है तो वो सारे दुख-दर्द भूल जाती है. पर क्या आपने कभी सुना है कि कोई औरत एक ही बच्चे को दो बार जन्म दे? बेशक ये सुनकर आपको लगेगा कि ये असंभव है मगर अमेरिका की एक महिला के साथ ऐसा ही हुआ. उसे अपनी बेटी को 2 बार जन्म (Woman give delivery to similar daughter twice) देना पड़ रहा है.

द सन वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार जैकलीन स्कूमर (Jacqueline Schumer) ने हाल ही में एक टिकटॉक वीडियो में बताया कि कैसे जब वो पहली बार मां (first time mom give delivery twice) बन रही है तो उसे अपनी बेटी को दो बार जन्म (girl give delivery similar child twice) देना पड़ रहा है. चलिए आपको बताते हैं कि ये संभव कैसे हुआ. द सन के मुताबिक जैकलीन ने बताया कि उनकी बेटी को स्पिना बाइफिडा (Spina Bifida) नाम की एक बीमारी गर्भ से ही थी. ये बच्चों में जन्म के वक्त से ही होने वाला एक शारीरिक विकार है जिसमें गर्भ के अंदर पल रहे बच्चे की रीढ़ की हड्डी ठीक से विकसित नहीं हो पाती है.

23वें हफ्ते में पहली बार हुई थी डिलिवरी
जब डॉक्टरों को ये बात पता चली तो उन्होंने बच्चे की सर्जरी करने का फैसला किया. इसके लिए सबसे पहले उन्होंने 23वें हफ्ते में बच्चे को जैकलीन के गर्भ से निकाला और उसकी स्पाइनल सर्जरी की. इसके बाद उसे फिर से मां के गर्भ में डाल दिया गया है और अब उसे 14 हफ्तों तक मां को गर्भ में पालना पड़ेगा, जिसके बाद वो दूसरी बार अपनी बेटी को जन्म देगी.

14 हफ्ते बाद फिर बच्ची को जन्म देगी महिला
इस वीडियो पर एक शख्स ने कमेंट कर पूछा कि आखिर ये संभव कैसे है, गर्भ के एमनिऑटिक सैक और फ्लुएड का बाद में क्या होता है. जैकलीन ने बताया कि उनकी पहली डिलिवरी 23वें हफ्ते में हुई थी. उसके बाद बच्चे को फिर से गर्भ में डाल दिया गया था. फिलहाल वो 30 हफ्ते की प्रेग्नेंट हैं और उन्हें पूरी तरह से बेड रेस्ट के लिए कहा गया है. जैकलीन ने बताया कि काफी फ्लुएड निकल जाता है इसलिए फोर फ्लुएड टाइप का एक पदार्थ गर्भ में डाला जाता है जिसके जरिए बच्चा अपने आप अपना फ्लुएड बनाने लगता है. इसके बाद सैक को बंद कर देते हैं. जैकलीन हर हफ्ते डॉक्टर के पास जाती है ये देखने के लिए कि उसके फ्लुएड लेवल के स्तर में बढ़ोतरी हुई की नहीं. इसके बाद उसका सी सेक्शन होगा.

Tags: Ajab Gajab news, Trending news, Weird news



Source link