जब पंछियों ने क्रैश कराए भारी-भरकम विमान! एक बार तो अकेले चील ने ही हेलिकॉप्टर गिरा दिया …

जब पंछियों ने क्रैश  कराए भारी-भरकम विमान! एक बार तो अकेले चील ने ही हेलिकॉप्टर गिरा दिया …
जब पंछियों ने क्रैश  कराए भारी-भरकम विमान! एक बार तो अकेले चील ने ही हेलिकॉप्टर गिरा दिया …


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ऋषि अवस्थी.

आसमान का सफर वक्त तो कम लेता है, लेकिन इसमें रिस्क भी काफी है. कई बार एयरक्राफ्ल में फ्यूल कम होना, प्लेन में खराबी जैसे बहुत से कारणों की वजह से हादसे हो जाते हैं. हालांकि कई बार आकाश में उड़ने वाले पक्षी भी अच्छे भले विमान को क्रैश करा देते हैं. जाने-अनजाने आकाश में उड़ने वाले आजाद पक्षी भी प्लेन में सफर कर रहे लोगों की जान के दुश्मन बन बैठते हैं. इसी कड़ी में आज हम कुछ ऐसी घटनाओं के बारे में रूबरू कराएंगे जिसमें आकाश में उड़ने वाले पक्षी बड़े हादसों के ज़िम्मेदार बने.

हुडसन में हुआ चमत्कार
साल 2009 के 15 जनवरी के दिन प्लेन के पायलट चेसले सुलेनबर्गर एयरबस 320 को कंट्रेल कर रहे थे. नॉर्थ कैरोलिना की इस फ्लाइट में 150 यात्री साहित 5 क्रू मेंमर सवार थे. अचानक हंस का विशाल झुंड विमान के दोनों इंजनों के साथ टकरा गया, जिससे इंजन खराब हो गए. घटना की सूचना मिलने के बाद हवाई जहाज के कैप्टन सुलैनबर्गर ने जहाज को हुडसन नदी पर उतारने का निर्णय लिया. हादसे के पांच मिनट बाद ही पानी में उतरने से प्लेन में मौजूद सभी 155 लोगों की जान बचाई जा सकी.

जब प्लेन के 3 इंजन हुए फेल
वर्ष 1960 में 4 अक्तूबर की तारीख को इसटर्न एयरलाइंस फ्लाइट 375 नाम का लोकहीड L188A इलैक्ट्रा अमेरिका के लोगन एयरपोर्ट से उड़ान भरता है. उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही विमान हवा में उड़ रहे स्टर्लिंग पक्षियों के झुंड से टकरा गया. झुंड की 3-4 चिड़िया इंजन में फंस गई और फिर विमान लुढ़ककर विन्थ्रोप खाड़ी में गिर गया. दुर्घटना में प्लेन में सवार 62 लोग मारे गए और प्लेन पूरी तरह बर्बाद हो गया.

अचानक हंस का विशाल झुंड विमान के दोनों इंजनों के साथ टकरा गया, जिससे इंजन खराब हो गए. (Credit- Pixabay/सांकेतिक तस्वीर)

फ्लोक ऑफ गल्स
15 अगस्त 2019 में मॉस्को से उड़ी एक उरल एयरलांइस एयरबस A321 के इंजन की पक्षियों के झुंड के साथ टकरा गई. समय रहते फ्लाइट कैप्टन दामीर युसुपोव ने फ्लाइट को मक्के के खेत में उतारा, जिससे फ्लाइट में मौजूद सभी यात्रियों की जान बच पाई. हालांकि दुर्घटना में 70 से ज्यादा लोगों के जख्मी हुए लेकिन जान सबकी बच गई. घटना के बाद युसुपोव को एक हीरो की तरह देखा जाने लगा.

खतरनाक लैंडिंग
वर्ष 1988 में भी इथियोपियन एयरलाइंस बोइंग 737-260 में कबूतरों का एक झुंड फंस गया. घटना तब हुई जब प्लेन जमीन से 100 से 200 फीट की ऊंचाई पर था. बदकिस्मती से प्लेन ने अपनी ताकत खो दी और इंजन ने आग उगलनी शुरू कर दी. पायलट ने तत्काल प्लेन को ‘ताना’ झील से वापस रनवे की तरफ लौटे लेकिन विमान के दोनों इंजन फेल हो गए. कैप्टन ने अंत तक लैंडिंग के लिए कवायद जारी रखी लेकिन जमीन को छूते ही विमान में आग लग गई और ये दो हिस्से में बंट गया. अंतरिम रिपोर्टों में बताया गया कि विमान में सवार 102 लोगों में से 31 लोग मारे गए.

हंसों से सावधान
अब तक हमने विमानों की दुर्घटना में कबूतर, तारे, गुल, और गीज़, जैसे पक्षियों का जिक्र किया लेकिन क्या आप जानते है कि इस सूची में हंसों का भी नाम शामिल किया जा सकता है. 23 नवंबर, 1962 के दिन यूनाइटेड एयरलाइंस की फ्लाइट 297 ने नेवार्क से वॉशिंगटन के लिए जाने के लिए उड़ान भरी. अपनी उड़ान के दौरान ही फ्लाइट हवा में उड़ रहे हंसों के झुंड से टकरा गई. दो पक्षी हवाई जहाज में फंस गए, जिसमें से एक स्टेबलाइज़र चला गया. थोड़ी देर बाद ही अनियंत्रित विमान लगभग 6000 फीट की उचांई से जमीन में गिर पड़ा और फ्लाइट में सवार 17 यात्रियों की जान चली गई.

aircraft accidents, most weird aircraft accidents , aircraft accidents occured due to flying birds, Birds, Planes, Aircraft

वर्ष 1988 में भी इथियोपियन एयरलाइंस बोइंग 737-260 में कबूतरों का एक झुंड फंस गया. (Credit- Pixabay/सांकेतिक तस्वीर)

स्टंटबाज़ पायलट की जान गई
पक्षियों के टकराने से हुई मौतों में पहली मौत 1912 में दर्ज की गई जिसमें कालब्रेथ पैरी रोजर्स विश्व के 49वें लाइसेंस एविएटर बने. 3 अप्रैल 1912 को कैलिफोर्निया में एक एयर शो के दौरान उनका विमान में कुछ पक्षियों से टकरा गया, जिसके चलते उनका एयरक्राफ्ट हज़ारों की तादाद में उनका एयर शो देखने आए प्रशंसकों के सामने ही क्रैश हो गया. हादसे में उनकी उनकी मौत हो गई.

थंडरबर्ड्स ने सहायक क्रू को खोया
वर्ष 1953 में बना थंडरबर्ड्स एक सटीकता से उड़ने वाले समूह था, जो यूएस की एय फोर्स की ऑफिशियल डेमनस्ट्रेशन टीम द्वारा गठित किया गया था. गठन के सिर्फ 5 साल के अंदर ही यूएस एयरफोर्स ने अपने खुद के साथियों को खो दिया क्योंकि 9 अक्तूबर,1958 के दिन एयरफोर्स के थंडरबर्ड फ्लायर्स का विमान पक्षियों के झुंड से टकरा गया. इस हादसे में एयरक्राफ्ट असंतुलित होकर अमेरिका में इदाहो के पाय्येट्टे के पास क्रैश हो गया. दुर्घटना में प्लैन में सवार सभी 19 लोगों की जान चली गई.

तबाह हुआ कॉकपिट
10 दिसंबर,1969 में रूस के माकाचकाला से उड़ान भरने के बाद जॉर्जिया में क्रैश हुए एयरक्राफ्ट इल्युशिन IL-14P में 17 लोगों की मौत हुई. दुर्घटना समुद्र के 1150 फीट ऊपर हुई. बहुत सी रिपोर्ट कहती हैं कि क्रैश का प्रमुख कारण हवाई जहाज और पक्षियों के झुंड के बीच टकराव था जिसकी वजह से प्लैन की कॉकपिट तबाह हो गई थी.

aircraft accidents, most weird aircraft accidents , aircraft accidents occured due to flying birds, Birds, Planes, Aircraft

9 अक्तूबर,1958 के दिन एयरफोर्स के थंडरबर्ड फ्लायर्स का विमान पक्षियों के झुंड से टकरा गया. (Credit- Pixabay/सांकेतिक तस्वीर)

कलहंस ने ले ली जान
पक्षियों कि वजह से आकाश में उड़ने वाले एयरक्राफ्ट ही पक्षियों से प्रभावित नहीं हैं बल्कि हैलिकॉप्टर भी पक्षियों के कारण होनेवाली दुर्घटनाओं का शिकार हुए हैं. वर्ष 2017 में अमेरिका के अरकंसास में एक हैलिकॉप्टर का पक्षियों के झुंड के साथ टकराव हो गया. घटना में पायलट सहित 2 अन्य लोगों की मौत हो गई. क्रैश के बाद जांच में पक्षी के पंख और उनकी मृत शरीर पाए गए.

रेड हॉक डाउन
सितंबर 2012 में सेना का एक हैलिकॉप्टर एक लाल रंग के चील से टकरा गया. चील का वजन 3 पाउंड ( तकरीबन 1.4 किलोग्राम) था. घटना तब हुई जब हवा में उड़ रही चील का पंख हैलिकॉप्टर में फंस गया. फंसने के एक मिनट बाद ही हैलिकॉप्टर टूट गया और ज़मीन पर गिर गया. हादसे में दोनों मरीन पायलटों की मौके पर ही मौत हो गई और घटनास्थल के 120 एकड़ के एरिया में आग फैल गई.

Tags: Ajab Gajab, Amazing facts, Viral news



Source link