डिजिटल इंडिया की नई उम्मीद: 14,903 करोड़ रुपये का विशेष आवंटन

                               डिजिटल इंडिया की नई उम्मीद: 14,903 करोड़ रुपये का विशेष आवंटन


डिजिटल इंडिया परियोजना में नई दिशाएँ: 14,903 करोड़ रुपये की निवेश मंजूर KALTAK NEWS.COM


नई दिल्ली में उत्तरी भारत की राजधानी केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को एक महत्वपूर्ण फैसला लिया, जिससे डिजिटल इंडिया परियोजना का विस्तार और सुधार किया जाएगा। इस महत्वपूर्ण फैसले के साथ ही 14,903 करोड़ रुपये का व्यय किया जाएगा, जिससे देश की सूचना प्रौद्योगिकी मानदंडों में सुधार करने का प्रयास किया जाएगा।

केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इस फैसले की घोषणा की और बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व में मंत्रिमंडल की बैठक में डिजिटल इंडिया परियोजना के विस्तार को मंजूरी दी गई है। इस नवाचार के साथ सरकार ने इस परियोजना को नयी दिशाएँ देने का निर्णय लिया है।

इस नये दौर में मंत्री ने बताया कि डिजिटल इंडिया परियोजना के तहत पूर्व में किए गए कार्यों को भी आगे बढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही परियोजना के अंतर्गत 5.25 लाख आईटी पेशेवरों को नई प्रौद्योगिकी के हिसाब से पुनः सिखाया जाएगा, जिससे वे नवाचारी और तकनीकी रूप से सजीव रह सकें। साथ ही, इस परियोजना के माध्यम से 2.65 लाख लोगों को सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में प्रशिक्षित किया जाएगा, जो उन्हें नवीनतम तकनीकी और डिजिटल उपकरणों के साथ परिचित कराएगा।

इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत डिजिटल इंडिया को और भी व्यापक बनाने के लिए, राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (एनसीएम) के तहत नौ नए सुपर कंप्यूटर जोड़े जाएंगे। मंत्री ने बताया कि एनसीएम के तहत पहले ही 18 सुपर कंप्यूटर स्थापित किए गए हैं, जिनका उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में तकनीकी और वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए होता है।

इस नए दौर में देश को उन्नति की ओर एक महत्वपूर्ण कदम बढ़ाने की योजना है, जो तकनीकी विकास के क्षेत्र में नए दरवाजे खोल सकती है। इस डिजिटल उत्कृष्टता के प्रयास में सरकार ने नये स्थानों की प्राथमिकता दी है, जो विकास की मात्रा में नयी ऊँचाइयों को छूने की कोशिश करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *