Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Fake physician paid over 9 crores by NHS: अपने देश में आपने झोलाछाप डॉक्टरों (Fraud Doctor) के खूब किस्से सुने होंगे, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि विदेशों में भी लोग यूं ही डॉक्टर बनकर लोगों को चूना लगा देते हैं. इंग्लैंड (England News) की रहने वाली एक महिला ने ऐसा ही फ्रॉड करके न जाने कितने मरीज़ों का इलाज फर्जी डॉक्टर बनकर कर दिया.

इंग्लैंड के लंकनशायर में रहने वाली ज़ोहिला एल्मी (Zholia Alemi) नाम की महिला ने सरकारी डॉक्टर के तौर पर लोगों का इलाज किया और इससे अच्छी खासी रकम सैलरी के तौर पर भी कमाई. फिर उसकी सच्चाई जब सामने आई तो लोग दंग रह गए. महिला ने यूं तो अपनी पूरी ज़िंदगी इसी झूठ पर गुजार दी लेकिन आखिरकार उसका सच सामने आ ही गया.

नकली डिग्री दिखाकर बन गई डॉक्टर
डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक ज़ोहिला एल्मी (Zholia Alemi) की उम्र 60 साल के करीब होगी और उसने साल 1995 में मैनचेस्टर की जनरल मेडिकल काउंसिल में अपने नकली दस्तावेज़ जमा किए थे. अब उसके ऊपर फ्रॉड का मुकदमा चल रहा है. महिला पर जालसाजी के 2 आरोप लगाए गए हैं, 2 मामलों में धोखाधड़ी और 13 मामलों में गलत दस्तावेज़ पेश करने का आरोप लगा है. हालांकि महिला ने कोर्ट ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज़ कर दिया, लेकिन सबूतों को वो नकार नहीं सकी.

कोर्ट में खुल गया सारा झूठ
कोर्ट में वकील क्रिस्टोफर स्टेबल्स ने दस्तावेज़ों में फ्रॉड के बारे में बताया और ये भी बताया कि वो सरकारी स्वास्थ्य विभाग के ज़रिये £1 मिलियन से ज्यादा यानि भारतीय मुद्रा में 10 करोड़ तक की रकम कमा चुकी है. डॉक्यूमेंट्स के ज़रिये पता चला कि वो अपना कोर्स बीच में ही छोड़ चुकी थी लेकिन वो बिना क्वालिफिकेशन के ही मनोचिकित्सक होने का दावा कर रही थी. उसने बिना डिग्री के लोगों का इलाज भी कर दिया और उनसे फीस भी ली.

Tags: Ajab Gajab, Viral news, Weird news



Source link