दो साल पहले फ्लैट के अंदर सड़कर सूख गई महिला की लाश, मकान मालिक तब भी हर महीने वसूलता रहा किराया
दो साल पहले फ्लैट के अंदर सड़कर सूख गई महिला की लाश, मकान मालिक तब भी हर महीने वसूलता रहा किराया


Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

पहले के समय में लोगों को अपने पड़ोसियों का खास ख्याल होता था. उनमें एक तरह के परिवार जैसा संबंध बन जाता था. तीज-त्योहार सभी एक साथ ही मनाते थे. लेकिन समय के साथ इंसान इतना व्यस्त रहने लगा कि अपनों के साथ ही रिश्ता नहीं निभा पाया. ऐसे में पड़ोसियों के साथ रिश्ता रखना तो दूर की बात समझ लीजिये. लंदन में एक घर के अंदर रहने वाली बुजुर्ग महिला की मौत दो साल पहले हो गई. उसके घर के दरवाजे पर चिट्ठियों का ढेर जमा था. उसकी कोई खोज खबर नहीं थी. लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया.

साउथ ईस्ट लंदन के पेक्खम में रहने वाली शीला सेलेवै की बॉडी उसके फ़्लैट की जमीन से मिली. लाश पूरी तरह सूख गई थी और बस हड्डियों का ढांचा बचा था. उसके पड़ोसियों ने बताया कि उन लोगों ने महिला को अगस्त 2019 से नहीं देखा था. ऐसे में कयास लगाए गए कि महिला की मौत करीब दो साल पहले ही हो गई थी. उसके घर का गैस सप्लाई कनेक्शन भी काट दिया गया था. लेकिन इन सबके बावजूद उसका मकानमालिक उससे किराया वसूलता रहा.

दो साल बाद मिली लाश
द मिरर की खबर के मुताबिक़, शीला को अगस्त 2019 से देखा नहीं गया था. घर के बाहर पड़े चिट्ठियों के ढेर और कटी हुई गैस कनेक्शन के बाद बाद भी किराया वसूला जा रहा था. आखिरकार किसी पड़ोसी ने इसकी जानकारी पुलिस को दी. जब पुलिस ने मौके पर आकर फ़्लैट का दरवाजा खोला तो कि अंदर 61 साल की महिला की लाश पड़ी थी. लाश सड़कर सूख गई थी और सिर्फ हड्डियों का ढांचा बचा हुआ था.

नहीं पता चल पाई मौत की वजह
महिला की मौत का कारण पता नहीं पाया. पुलिस के मुताबिक़ लाश काफी सड़ गई थी. लाश महिला की है ये डेंटल एक्सामिनेशन में पता चल पाया. वहीं जब घर के फ्रिज की जाँच की गई तो उसमें रखे ज्यादातर आइटम्स अगस्त 2019 के निकले. इससे ये बात प्रमाणित हो गई कि महिला की मौत उसी समय हुई थी. हालांकि, मकान मालिक से इस संबंध में पूछताछ चल रही है कि जब महिला का अगस्त 2019 से कोई अता-पता नहीं था, तो उसने पुलिस में शिकायत क्यों नहीं दर्ज की. इसकी जगह हर महीने वो किराया वसूलता रहा.

Tags: Ajab Gajab, Khabre jara hatke, OMG, Weird news



Source link