सबसे पहले बात करते हैं टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज सुरेश रैना की. इस खिलाड़ी ने टीम इंडिया के लिए वनडे और टी20 में बड़ा मुकाम हासिल किया है. उन्होंने छोटे प्रारूप में अपनी विस्फोटक पारियों से खासा दबदबा बनाया था. (CSK/Twitter) रैना ने सीमित ओवरों के 5 साल बाद टेस्ट डेब्यू किया. डेब्यू मैच में ही उन्होंने अपने प्रदर्शन से दिग्गज खिलाड़ियों को ताली बजाने पर मजबूर कर दिया था. उन्होंने साल 2010 में श्रीलंका के खिलाफ डेब्यू मैच में 120 रन की बेहतरीन पारी खेली थी. (AFP) टेस्ट में शानदार शुरुआत मिलने के बाद रैना ने वनडे और टी20 में अपना दबदबा जारी रखा. लेकिन टेस्ट क्रिकेट में उनको किस्मत की मार पड़ना शुरू हो गई. वह अच्छी शुरुआत के बाद कुछ खास नहीं कर सके. 18 टेस्ट मैच का करियर उनके एकमात्र शतक के साथ खत्म हो गया. (BCCI) इस लिस्ट में दूसरा नाम है टीम इंडिया के स्टार रह चुके शिखर धवन का. गब्बर के नाम से मशहूर इस खिलाड़ी ने भी टीम इंडिया के लिए कई बड़ी पारियां खेली हैं. वनडे में शिखर धवन का नाम आज भी चलता है. लेकिन शिखर को टेस्ट करियर के लिए टीम की तरफ से भरपूर समर्थन नहीं मिला है. (Shikhar Dhawan/ Instagram) शिखर धवन ने टेस्ट डेब्यू की शुरुआत शतक के साथ की थी. जिसके बाद उन्हें लंबे प्रारूप में लंबी रेस का घोड़ा बताया जा रहा था. लेकिन गब्बर का टेस्ट करियर इसके विपरीत रहा. बाएं हाथ के बैटर ने अपने टेस्ट करियर से अब उम्मीद छोड़ दी है. (AFP) उन्होंने साल 2013 में दुनिया की नंबर वन टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू किया था. अपने डेब्यू मैच में ही शिखर ने 187 रनों की विशालकाय पारी खेली थी. उन्होंने 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट खेला था. उसके बाद उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया. (AFP) इस लिस्ट में तीसरा नाम टीम इंडिया के युवा बैटर पृथ्वी शॉ का है. युवा बल्लेबाज ने साल 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना डेब्यू किया. उस मैच में उन्होंने 134 रन की शानदार पारी खेली. लेकिन उसके बाद वह उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सके. (PTI)

पृथ्वी ने हाल ही में रणजी ट्रॉफी में तिहरा शतक लगाया था. जिसके बाद वह एक मौके के लिए बीसीसीआई का दरवाजा खटका रहे हैं. उन्होंने अबतक 5 टेस्ट में 339 रन बनाए हैं. अब वह टेस्ट में एक मौके के इंतजार में हैं. (AFP)



(*1*)

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!