Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

रिपोर्ट- कृष्ण कुमार
नागौर. मेड़ता सिटी के राजकीय उच्च प्राथमिक संस्कृत विद्यालय में जल भराव से निजात दिलाने के प्रयास आखिर सफल हुए. विद्यालय परिसर में जलभराव के कारण छात्र छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ता था, जिसको देखते हुए स्कूल प्रशासन ने भामाशाह से सहयोग लेकर विद्यालय परिसर में जलभराव की समस्या को दुरुस्त करवाया है. जिससे मानसून सीजन में भी किसी तरह की परेशानी नहीं होगी.

 विद्यालय परिसर में बना था गड्ढा

विद्यालय में अधिकतर समय जलभराव की स्थिति बनी रहती थी. जिसको देखते हुए अब इसे दुरुस्त करवाया गया है. दरअसल सड़क से विद्यालय ढलान में होने के कारण अक्सर बाहर का पानी विद्यालय में आकर ठहर जाता था. जिससे विद्यार्थियों को परेशानी होती थी और कई बार इस समस्या के चलते अवकाश भी करना पड़ जाता था

भामाशाह के सहयोग से अब विद्यालय परिसर में लगभग 200 ट्राली मिट्टी की डाली गई है. जिससे कि इस गड्ढे को भरा गया है. पालिका अध्यक्ष गौतम टाक ने नाला निर्माण करवाकर पूरी तरह से इस समस्या से निजात दिलाने की बात कही है. इस मौके पर योगेश शर्मा, हेमराज सिखवाल,जयचंद दाधीच, अमित टाक आदि ने भामाशाह के रूप में सहयोग किया.

नागौर की तहसील मेङता सिटी में राजकीय उच्च प्राथमिक संस्कृत विद्यालय स्थित हैं. यह मेङता नगर पालिका का एकमात्र संस्कृत विद्यालय है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : January 10, 2023, 17:02 IST



Source link