Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

कोटा. कोचिंग सिटी के नाम से विख्यात राजस्थान के कोटा में देश के अलग-अलग हिस्सों से स्टूडेंट मेडिकल व इंजीयिरिंग की प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए आते हैं. यहां आने वाले स्टूडेंट्स मेहनत के साथ ही सफल होने के​ लिए प्रार्थना भी करते हैं. यहां एक मंदिर इन प्रार्थनाओं की गवाही देता है. शहर के तलवंडी स्थित राधा कृष्ण मंदिर की एक दीवार पर लिखे शब्दों को ध्यान से पढ़ने पर पता चलता है कि स्टूडेंट किस तरह भगवान से परीक्षाओं में सफल होने की मन्नतें मांगते हैं.

शहर के इस प्रसिद्ध मंदिर में बड़ी संख्या में कोचिंग स्टूडेंट्स दर्शन करने आते हैं. यही नहीं, उनके परिवार के लोग भी यहां पहुंचते हैं. स्टूडेंट्स की आस्था के चलते मंदिर की एक दीवार को ‘मन्नत की दीवार’ भी कहा जाने लगा है. इस दीवार पर एक मनोकामना इस तरह लिखी है ‘मेरे लड़के का एमबीबीएस मेडिकल में सरकारी कॉलेज में एडमिशन हो जाए, खूब मन लगाकर पढ़ाई करे, मम्मी पापा से अच्छा बर्ताव किया करे.’ एक स्टूडेंट ने लिखा है ‘भगवान 3 महीने बचे हैं, इस साल नीट में 650 स्कोर करा दो, सलेक्शन हो जाए.’

मंदिर के प्रवक्ता रवि अग्रवाल ने बताया कि स्टूडेंट्स का विश्वास है कि 1996 में मंदिर में एक कथा का आयोजन हुआ था, उस समय कुछ स्टूडेंट ने दीवार पर अपनी मनोकामना लिखी. शुरुआत में दीवार पर लिखते समय स्टूडेंट्स को कई बार टोका भी. लेकिन, बाद में जब रिजल्ट आने शुरू हुए और काफी स्टूडेंट्स की मनोकामनाएं पूरी होती हुई दिखीं तो उसके बाद किसी ने भी बच्चों को दीवार पर लिखने से नहीं टोका. साल में दो बार इस मंदिर की दीवारों की पुताई कराई जाती है. एक जन्माष्टमी के बाद दूसरी 28 अप्रैल के बाद.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : January 11, 2023, 08:00 IST



Source link