Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

इंडोनेश‍िया में चार साल का मुहम्मद ज़ियाद विजया दो दिन से लापता था. घरवाले, पुलिस प्रशासन के लोग, कोस्‍टगार्ड सब उसकी तलाश में जुटे हुए थे. पता नहीं चल पा रहा था. इसी बीच नदी में एक मगरमच्‍छ तैरता हुआ नजर आया, जिसे देखकर लोग हैरान रह गए. मगरमच्‍छ अपनी पीठ पर उस बच्‍चे को लादकर ला रहा था. थोड़ी ही देर बाद वह बच्‍चे को ले जाकर एक नाव में रख देता है. मछुआरे यह देखकर चौंक गए.

आप जानकर हैरान होंगे कि 10 फ‍िट लंबा यह मगरमच्छ बच्‍चे के शव को पीठ पर लादकर करीब 700 फ‍िट नदी में तैरता रहा. उसे गिरने नहीं दिया और आख‍िरकार नदी के किनारे लाकर उसने जमीन पर भी नहीं रखा बल्‍क‍ि एक नाव में लाकर सुरक्ष‍ित रख दिया. वीडियो में दो मछुआरे बच्‍चे को वहां से हटाते नजर आ रहे हैं.

चोट भी नहीं पहुंचाई, कहीं खरोंच के निशान नहीं
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्‍चे के शरीर पर चोट के एक भी निशान नहीं थे. यानी मगरमच्‍छ ने उसे चोट पहुंचाने की कोई कोशिश नहीं की थी. कहीं खरोंच भी नहीं लगा था. ईस्ट कालीमंतन सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के सदस्यों को जब यह सूचना मिली कि एक मगरमच्छ उस बच्चे को ले आ रहा है जिसकी वे तलाश कर रहे थे तो वे भी हैरान रह गए. सर्च एंड रेस्क्यू एजेंसी के प्रमुख ने कहा, कोई भी इस बात पर यकीन नहीं कर सकता कि एक मगरमच्‍छ बच्‍चे को इतनी दूरी से निकाल लाया. वह भी बिना कोई चोट पहुंचाए. यह वाकई दुनिया की आश्चर्यजनक घटनाओं में से एक है.

बच्‍चे को छोड़कर नदी में गायब हो गया मगरमच्‍छ
एक प्रत्‍यक्षदर्शी ने बताया कि जब बच्‍चे को मछुआरों ने अपने पास ले लिया तो वह मगरमच्‍छ पानी के नीचे गायब हो गया. अभी तक यह पता नहीं कि बच्‍चे की मौत डूबने से हुई या नहीं पर य तो तय है कि मगरमच्‍छ ने उसकी जान नहीं ली. शुरुआती जांच में पता चला है कि बच्‍चा गलती से खेलते समय नदी में गिर गया था.

हर साल एक हजार लोगों की जाती है जान
आपको बता दें कि इंडोनेशिया में हर साल मगरमच्छ औसतन लगभग 1,000 लोगों को मार डालते हैं, हालांकि-आमतौर पर वे इंसानों पर खुद हमला नहीं करते. जब तक उन्‍हें छेडा नहीं जाता वे वार नहीं करते. ResearchGate के अनुसार, 2007 से 2016 के बीच बोर्नियो में 221 मगरमच्छ के हमले हुए, इनमें 129 लोगों की मौत हो गई.

Tags: Ajab Gajab news, Trending news, Viral news, Weird news, Wildlife news in hindi



Source link